मेरा कोई न सहारा बिन तेरे – भजन लिरिक्स

By Tami

Published on:

मेरा कोई न सहारा बिन तेरे

धर्म संवाद / डेस्क : भगवान श्री कृष्ण के अनेक नामों में से एक नाम घनश्याम भी है। उन की आराधना के लिए कई भजन गाए जाते हैं। उनके इस भजन की रचना  श्री अनिरुद्धाचार्य जी महाराज द्वारा की गई थी।

मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे
घनश्याम साँवरिया मेरे

[short-code1]

तुम दीनबन्धु हितकारी
आए हम शरण तिहारी
काटो जनम मरण के फेरे
घनश्याम साँवरिया मेरे
मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे….

WhatsApp channel Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Join Now

यह भी पढ़े : सीता राम जी की प्यारी राजधानी लागे –भजन

विषयों के जाल में फस कर
मोह ममता के पाश में कसकर
दुख पाए मैं नाथ घनेरे
घनश्याम साँवरिया मेरे
मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे….

हम दीन हीन संसारी
आशा एक नाथ तिहारी
तेरे चरण कमल के चेरे
घनश्याम साँवरिया मेरे
मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे….

तूने लाखों पापी तारे
नही कोई गुण दोष विचारे
खड़ा भिक्षु द्वार पे तेरे
घनश्याम साँवरिया मेरे
मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे….

See also  शबरी रो रो तुम्हे पुकारे | Shabri Ro Ro Tumhe Pukare

Tami

Tamishree Mukherjee I am researching on Sanatan Dharm and various hindu religious texts since last year .