सीता राम जी की प्यारी राजधानी लागे –भजन

By Tami

Published on:

सीता राम जी

धर्म संवाद / डेस्क : मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम को प्रसन्न करने के लिए गाए ये भजन

सीता राम जी की प्यारे राजधानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे…

धन्य कौशल्या धन्य कैकई धन्य सुमित्रा मैया,
धन्य कौशल्या धन्य सुमित्रा धन्य कैकई मैया,
धन्य भूप दशरथ के अँगना खेलत चारो भैया,
मीठी तोतली रसीली प्रभु की बानी लागे प्रभु की बानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे,
सीता राम जी की प्यारे राजधानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे…

यह भी पढ़े : आरती श्री जनक दुलारी की | Sita Mata Aarti

छोटी छावनी रंगमहल हनुमान गढ़ी अति सुन्दर,
रंगमहल हनुमानगढ़ी अति सुन्दर,
स्वंय जगत के मालिक बैठे कनक भवन के अंदर,
सीता राम जो की शोभा सुखकानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे,
सीता राम जी की प्यारे राजधानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे…

सहज सुहावन शोभा लागे रघुवर राम लाला की,
सहज सुहावन शोभा लागे रघुवर राम लाला की,
सीता राम नाम धुन प्यारी सुख दानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे,
सीता राम जी की प्यारे राजधानी लागे,
मोहे मिठो मिठो सरयू जी को पानी लागे…
 

Tami

Tamishree Mukherjee I am researching on Sanatan Dharm and various hindu religious texts since last year .