तांबे की अंगूठी पहनने से क्या होता है

By Admin

Published on:

धर्म संवाद / डेस्क : तांबा को सूर्य का धातु माना जाता है।  ये एक ऐसा धातु है जिसके कई तरह के स्वास्थ्य लाभ तो हैं ही, वहीं इसके कई ज्योतिष से जुड़े फायदे भी हैं। ऐसी मान्यता है कि यह धातु शरीर की नकारात्मक ऊर्जाओं को दूर करने में मदद करती है।

तांबे की अंगूठी पहनने से हमारे शरीर को तांबे के औषधीय गुण मिलते हैं। ये धीरे-धीरे हमारे खून को भी साफ करने में मदद करती है। जैसे तांबे के बर्तन में रखा पानी हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है, ठीक वैसे ही तांबे की अंगूठी से भी फायदा मिलता है।

यह भी पढ़े : जाने मूलांक पता करने का सबसे आसान तरीका

आयुर्वेद के अनुसार, तांबे की अंगूठी या कड़ा पहनने से जोड़ों और गठिया का दर्द दूर रहता है क्योंकि तांबे में एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है, जो रोगों को दूर करती है। इससे खून भी साफ़ होता है। हीमोग्लोबिन को बढ़ाने में भी ये मददगार है और ब्लड सेर्कुलशन को बढ़ाने में भी मदद करता है।  तांबे की अंगूठी पहनने से रक्तचाप नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। तांबे की अंगूठी दिल से जुड़ी अन्य समस्याओं को रोकने में भी मदद कर सकती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस धातु का शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है जो इंद्रियों को नियंत्रण में रखने में मदद करता है और चिंता और क्रोध जैसी नकारात्मक भावनाओं को भी नियंत्रित रखता है।  अगर किसी का सूर्य या मंगल कमजोर हो, तो तांबे की अंगूठी या छल्ला धारण करने से अच्छे से लाभ होता है। अगर किसी की कुंडली में सूर्य दोष हो, तो तांबे की अंगूठी को रिंग फिंगर में पहनना चाहिए तो इसका असर ज्यादा होता है। अगर किसी को ज्यादा गुस्सा आता हो, तो वो भी तांबा पहन सकता है।

Admin