राम मंदिर के गर्भगृह में हुई रामलला की प्राण प्रतिष्ठा

By Admin

Published on:

धर्म संवाद / डेस्क : आखिरकार 500 साल का इंतज़ार, त्याग, बलिदान, तपस्या संपन्न हुई. रामलला अपने घर अपने अयोध्या नगरी में पधार गए. 22 जनवरी को अयोध्या के राम मंदिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में अभिजीत मुहूर्त में उनकी प्राण प्रतिष्ठा की गयी. पंडित लक्ष्मीकांत मथुरानाथ दीक्षित और गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ ने प्राण प्रतिष्ठा की वैदिक प्रक्रिया संपन्न कराई .

 इस अवसर पर गर्भगृह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी मौजूद रहे.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चांदी की छतरी लेकर राम मंदिर पहुंचे. इसके बाद प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान शुरू हुआ. पीएम मोदी राम मंदिर परिसर पहुंचे, तो श्रीराम जन्मभूमि मंदिर परिसर के ऊपर हेलीकॉप्टर से फूलों की वर्षा की गई. 

यह भी पढ़े : प्राण प्रतिष्ठा के अतिथियों को मिलेगा ये खास उपहार

पंडितों के मंत्रोच्चारण के बीच अनुष्ठान शुरू हुआ.अभिजीत मुहूर्त में 85 सेकेंड में प्राण प्रतिष्ठा की गयी और साथ ही रामलला के पूर्ण स्वरूप की पूजा हुई. मुकुट, कुंडल और आभूषणों से सजे पांच साल के श्रीराम की छवि देखकर वहां मौजूद पीएम मोदी, योगी आदित्यनाथ समेत सभी लोग भावुक हो गए.

राम लला की प्रतिमा की पहली झलक सम्मोहित करने वाला था. गर्भगृह में भगवान रामलला के श्यामल रंग की 51 इंच की प्रतिमा को विराजित किया गया है. जो भगवान राम के पांच वर्षीय बाल स्वरूप की है. इसका वजन 200 किलोग्राम है. 

अयोध्या में चिरंजीवी, अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, सचिन तेंदुलकर, विवेक ओबेरॉय, सोनू निगम, रजनीकांत, माधुरी दीक्षित, विक्की कौशल, कैटरीना कैफ, आयुष्मान खुराना, रनबीर कबूर, आलिया भट्ट, राजकुमार हिरानी, राम चरण समेत कई दिग्गज मौजूद थे.

Admin