माँ सरस्वती पुष्पांजलि मंत्र| Maa Saraswati Pushpanjali Mantra

By Sanjana Kumari

Published on:

धर्म संवाद / डेस्क : माँ सरस्वती को विद्या और ज्ञान की देवी कहा जाता है. उन्हीं की कृपा से हमें विद्या और ज्ञान की प्राप्ति होती है। सभी विद्यार्थियों के जीवन में माता सरस्वती की पूजा करने का विशेष महत्त्व है . माता सरस्वती की पूजा के बाद पुष्पांजलि दी जाती है. चलिए जानते है  पुष्पांजलि का मन्त्र.

नमः भद्रकाल्यै नमो नित्यं सरस्वत्यै नमो नमः
वेद-वेदांग-वेदान्त-विद्यास्थानेभ्य एव च

एश श चंदना पुष्पा बिलवा पत्रांजलि
ॐ ओयिंग श्री सरस्वत्यै नमः

नमः भद्रकाल्यै नमो नित्यं सरस्वत्यै नमो नमः
वेद-वेदांग-वेदान्त-विद्यास्थानेभ्य एव च

एश श चंदना पुष्पा बिलवा पत्रांजलि
ॐ ओयिंग श्री सरस्वत्यै नमः

यह भी पढ़े : घर बैठे कैसे करे सरस्वती पूजा, जाने सम्पूर्ण पूजन विधि

नमः भद्रकाल्यै नमो नित्यं सरस्वत्यै नमो नमः
वेद-वेदांग-वेदान्त-विद्यास्थानेभ्य एव च

एश श चंदना पुष्पा बिलवा पत्रांजलि
ॐ ओयिंग श्री सरस्वत्यै नमः

नमः भद्रकाल्यै नमो नित्यं सरस्वत्यै नमो नमः
वेद-वेदांग-वेदान्त-विद्यास्थानेभ्य एव च

एश श चंदना पुष्पा बिलवा पत्रांजलि
ॐ ओयिंग श्री सरस्वत्यै नमः

नमः भद्रकाल्यै नमो नित्यं सरस्वत्यै नमो नमः
वेद-वेदांग-वेदान्त-विद्यास्थानेभ्य एव च

एश श चंदना पुष्पा बिलवा पत्रांजलि
ॐ ओयिंग श्री सरस्वत्यै नमः

Sanjana Kumari