बच्चों का नहीं लगता है पढाई में मन, तो स्टडी रूम के लिए आजमायें ये वास्तु टिप्स

By Admin

Published on:

धर्म संवाद / डेस्क : हर माता पिता चाहता है कि उनके बच्चे पढ़ –लिख कर सफल बने । इस वजह से बच्चों के साथ साथ उनके माता –पिता भी बहुत मेहनत करते हैं। पर फिरभी कुछ पेरेंट्स की शिकायत होती है कि उनके बच्चे का पढ़ाई में मन ही नहीं लगता। लाख कोशिशों के बाद भी बच्चे को पढ़ा हुआ याद ही नहीं रहता ।अगर ऐसा है तो वास्तु के कुछ उपाय बच्चों के भविष्य व करियर के लिए लाभकारी साबित हो सकते हैं। चलिए जानते हैं वास्तु से जुडी कुछ ऐसी चीज़े जो आपके बच्चे के पढाई में मन लगाने में मदद कर सकते हैं।

  • स्टडी रूम हमेशा पूर्व दिशा में होना चाहिए। वहाँ एक उगते हुए सूर्य का चित्र लगाएं। साथ ही उसके पीछे कोई दरवाजा खिड़की न हो, इससे ध्यान ज्यादा भटकेगा।
  • पढ़ते समय मेज पर एक पानी का गिलास भरकर रखें। स्टडी रूम में कोई भारी सामान न रखें। कमरा जितना खाली और साफ-सुथरा होगा, पढ़ाई में उतना मन लगेगा।

यह भी पढ़े : नमक का पोछा करेगा नकारात्मक ऊर्जा का नाश, घर में आएगी सकारात्मकता

  • कमरे में अगर स्टडी टेबल रख रहे हैं, तो इसे कमरे के बीच में या दीवार के सामने न रखें क्योंकि यह किसी के करियर में बाधाओं का प्रतीक है। डेस्क को अपनी कुर्सी के लिए अच्छे सपोर्ट के साथ उत्तर-पूर्व कोने में रखें या इसे खिड़की के दाईं ओर रखें। अगर खिड़की न हो तो शीशा बाईं ओर लटकाएं।
  • वास्तु के अनुसार अंधकार को खत्म करने के लिए स्टडी रूम में अच्छी रोशनी होनी चाहिए ।ज़्यादा प्रकाश के लिए अपने डेस्क के दोनों ओर लैंप लगाएं। 
  • वास्तु के अनुसार, बच्चों के स्टडी रूम मे ग्लोब रखना शुभ माना जाता है। कमरे में ग्लोब को उत्तर पूर्व दिशा में रखने से बच्चों का पढ़ाई में मन लगता है और उन्हें सफलता हासिल होती है।
  • एकाग्रता बढ़ाने के लिए हरे तोते का चित्र जरूर लगाएं जिससे बच्चे का पढ़ने में तुरंत ही मन लगने लगेगा।
  • स्टडी रूम की दीवारों का रंग सफेद, पिंकिश या क्रीम रखें। गहरे रंगों से बचें. स्टडी रूम को साफ सुधरा और सुंदर बनाकर रखें।

Admin