ब्रह्म मुहूर्त में इन मंत्रों के जाप से घर की नकारात्मकता होती है दूर

By Tami

Published on:

ब्रह्म मुहूर्त

धर्म संवाद / डेस्क : हिन्दू धर्म शास्त्रों में ब्रह्म मुहूर्त का बहुत अधिक महत्व माना गया है। कहा जाता है इस समय में देवी-देवता पृथ्वी पर भ्रमण करते हैं और इस मुहूर्त में जागने वाले जातकों पर उनकी विशेष कृपा बनी रहती है। ब्रह्म मुहूर्त को न केवल आध्यात्मिक दृष्टि से लाभकारी माना गया है बल्कि इसके कई स्वस्थ्य लाभ भी है। ब्रह्म मुहूर्त में उठने पर कई लाभ मिलते हैं। आपके घर की नकारात्मकता भी दूर हो जाती है। इसके लिए ब्रह्म मुहूर्त में उठकर आपको कुछ मंत्रों का जाप करना होगा ।

यह भी पढ़े : भगवान शिव के 108 नाम | 108 Names of Lord Shiva Download PDF

आपकी जानकारी के लिए बता दे सुबह 4 बजे से सुबह 5:30 के बीच का समय ब्रह्म मुहूर्त माना गया है। यह भी माना जाता है कि जो साधक इस मुहूर्त में उठते हैं, उनके ऊपर सदैव लक्ष्मी मां की कृपा बरसती रहती है। ब्रह्म मुहूर्त में उठने से व्यक्ति का शरीर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। 

सुबह ब्रह्म मुहूर्त उठते ही सबसे पहले अपनी हथेली को देखें और इस मंत्र का जाप करें –

कराग्रे वसति लक्ष्मीः,कर मध्ये सरस्वती।

करमूले तू ब्रह्मा, प्रभाते कर दर्शनम्।।’

अर्थात हथेलियों में मां लक्ष्मी, देवी सरस्वती और भगवान विष्णु का निवास है और में सुबह-सुबह उनके दर्शन कर रहा हूं।

यह भी पढ़े : शिव चालीसा | Shiv Chalisa

चमत्कारी मंत्र:-

ब्रह्मा मुरारी त्रिपुरांतकारी भानु: शशि भूमि सुतो बुधश्च।
गुरुश्च शुक्र शनि राहु केतव सर्वे ग्रहा शांति करा भवंतु॥
इस मंत्र का जाप करने से साधक को देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। साथ ही सभी प्रकार की नकारात्मकता का विनाश होता है।

शुभम करोति कल्याणं, आरोग्यं धन संपदाम्।

शत्रु बुद्धि विनाशाय, दीपं ज्योति नमोस्तुते’

इस मंत्र के जाप से सब शुभ होता है और हमारा बुरा सोचने वाले सभी शत्रुओं का नाश होता है।

Tami

Tamishree Mukherjee I am researching on Sanatan Dharm and various hindu religious texts since last year .