सरस्वती पूजा में करें इन मंत्रों का जाप, मिलेगा माँ सरस्वती का विशेष आशीर्वाद

By Admin

Published on:

धर्म संवाद / डेस्क : माँ सरस्वती को ज्ञान की देवी माना जाता है। मान्यताओं के अनुसार, बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती प्रकट हुई थी । यही कारण है कि इस दिन परीक्षा-प्रतियोगिता की तैयारी में जुटे पढ़ने-लिखने वाले छात्र पूरे विधि-विधान से देवी सरस्वती की पूजा करते हैं। विशेष मंत्रों के साथ देवी सरस्वती की पूजा-अराधना करने से सभी समस्याएं दूर होती हैं। चलिए आपको बताते हैं किन मंत्रों का जाप करने से माता का आशीर्वाद मिल सकता है।

  • ॐ सरस्वत्ये नमः।।
  • ॐ ऐं सरस्वत्यै नमः।।
  • ॐ ह्रीं ऐं ह्रीं सरस्वत्यै नमः।।
  • सरस्वत्यै नमो नित्यं भद्रकाल्यै नमो नम:।।
  • ॐ वागदैव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि। तन्नो देवी प्रचोदयात्।।
  • ऎं ह्रीं श्रीं वाग्वादिनी सरस्वती देवी मम जिव्हायां।
  • सर्व विद्यां देही दापय-दापय स्वाहा।।

यह भी पढ़े : भगवान शिव के 108 नाम| 108 Names of Lord Shiva

  • सरस्वती महाभागे विद्ये कमललोचने ।
  • विद्यारूपे विशालाक्षि विद्यां देहि नमोस्तुते।।
  • या देवी सर्वभूतेषु विद्या रूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।
  • नमस्ते शारदे देवी, काश्मीरपुर वासिनीं, त्वामहं प्रार्थये नित्यं, विद्या दानं च देहि में।कंबुकंठी सुताम्रोष्ठी सर्वाभरणं भूषितां महासरस्वती देवी, जिह्वाग्रे सन्निविश्यताम।।
  •  ऐं ह्वीं श्रीं वाग्वादिनी सरस्वती देवी मम जिव्हायां। सर्व विद्या देही दापय दापय स्वाहा।

Admin