इन 5 उपाय से करे घर की नेगेटिव एनर्जी दूर

By Admin

Published on:

सोशल संवाद / डेस्क : अगर आपके घर में कुछ अजीबोगरीब घटनाएं हो रही हैं तो इसका कारण नकारात्मक ऊर्जा या फिर नेगेटिव एनर्जी हो सकती है । कई बार घर के लोग एकदम से तनाव में आने लगते हैं या अनचाही बीमारियों का सामना करने लगते हैं, इनका कारण भी आपके घर में मौजूद कोई नकारात्मक ऊर्जा हो सकती है।

यह भी पढ़े : सफलता प्राप्त करने के लिए फॉलो करें आचार्य चाणक्य की ये बातें 

नेगेटिव एनर्जी के कारण शारीरिक और मानसिक परेशानियों का सामना करने के साथ ही धन का नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। कई बार यह नेगेटिव एनर्जी मौत का कारण भी बन जाती है। यदि आपको लगता है कि आपके घर में वास्तु दोष के कारण या किसी अन्य दोष के कारण नेगेटिव एनर्जी है तो आप हमारे बताए गए 5में से किसी भी उपाय को आजमाकर नकारात्मक ऊर्जा को समाप्त कर सकते हैं ।

1.हमेशा भय का वातावरण : नकारात्मक ऊर्जा के कारण भय का वातावरण बना रहता है। ऐसी स्थिति में आप जल में लौंग और गुलाब की कुछ पत्तियां डाल कर आप अपने इष्टदेव का ध्यान कर पुरे घर में जल का छिड़काव करें इससे लाभ होगा।

2. आर्थिक अभाव में तनाव माहौल : आर्थिक अभाव की वजह से घर में तनाव का माहौल बन जाता है। सबका मन दुखी रहने लगता है। घर में नकारात्मकता फैल जाती है, ऐसी स्थित में घर के बड़े पीले वस्त्र पहन कर प्रातः घर के सभी सदस्यों से चावल लेकर उसके साथ घी लेकर बृहस्पति वार के दिन किसी भी धार्मिक स्थान पर दें। धीरे-धीरे आर्थिक स्थिति में सुधार होना शुरू हो जाएगा।

3. सब कुछ होते हुए भी घर में शांति ना होना : अगर किसी से आप वादा करते हैं लेकिन उसे पूरा नहीं करते हैं तो भी घर में नकारात्मकता आती है। किसी से कर्ज लिया है लेकिन कर्ज लौटा नहीं पाए तब भी घर में कभी खुशनुमा माहौल नहीं रह सकता। ऐसे में आप उस व्यक्ति से माफ़ी मांगें जिसको किसी भी बात का आश्वासन दिया था और कर्ज थोड़ा-थोड़ा जरूर लौटाएं। शनिवार के दिन हमेशा विकलांग या असहाय लोगों में वस्त्र और भोजन बांटें। लाभ अवश्य होगा।

4. रसोई घर गलत दिशा में होना  : रसोई की गलत दिशा घर की सुख शांति को कम कर सकती है और घर के सदस्यों के बीच लड़ाई का कारण बन सकती है। अग्नि स्रोतों का स्थान दक्षिण-पूर्व दिशा यानी आग्नेय कोण में होना चाहिए। यदि आपका रसोई घर आग्नेय कोण में नहीं बना है तो आप रसोईघर में किचन स्टैंड के उत्तर-पूर्व यानी ईशान कोण में ऊपर सिंदूरी गणेशजी की तस्वीर लगाएं या यज्ञ करते हुए ऋषियं की फोटो लगाएं।

5.कलह का वातावरण : ऐसी स्थिति में आप रोजाना घर में गुग्गल, पीला सरसो और लोबान जलाएं और इसका धुंआ पुरे घर में दिखाएं, इससे बहुत लाभ होगा घर से कलह का वातावरण समाप्त होगा।

Admin